Who Moved My Cheese in Hindi मेरा चीज़ किसने हटाया? - किताब सारांश

Who moved my cheese in Hindi?

Who Moved My Cheese? / मेरा चीज़ किसने हटाया?


Who Moved My Cheese / मेरा चीज़ किसने हटाया किताब Dr Spencer Johnson (डॉक्टर स्पेंसर जॉनसन) द्वारा लिखी गयी है, जिसमें उन्होंने एक कहानी के माध्यम से पत्रों और वस्तुओं का प्रतीकों के रूप में बहुत सुंदर प्रयोग कर परिवर्तन के प्रति हमारी प्रतिक्रियाओं का बहुत सुन्दर विश्लेषण किया है | इस किताब का हिंदी रूपांतरण “मेरा चीज़ किसने हटाया?” भी उपलब्ध है | किताब संक्षिप्त में कुछ इस प्रकार है:

Who Moved My Cheese / मेरा चीज़ किसने हटाया किताब के मुख्य प्रतीक 


1.    
चीज़ / Cheese

यह हर उस चीज का प्रतीक है जिसे हम संजोते हैं, जिससे हमें खुशी मिलती है। इसका मतलब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीजें हैं। भौतिक चीजें, नौकरी, पैसा, अच्छा स्वास्थ्य, आध्यात्मिकता, सम्बन्ध, सुरक्षा, स्वतंत्रता, मान्यता, आदि।
2.    
भूलभुलैया / Maze

वह स्थान जहाँ हम अपने जीवन में खुशियाँ पाने / कमाने का प्रयास करते हैं । जहां हम सुख की तलाश करते हैं। यह हमारा कार्य स्थान, परिवार, समुदाय, या संबंध हो सकता है।
3.    
बदलाव / Change
वह सब कुछ जो हमें खुद को बदलने के लिए मज़बूर करता है। खुद को बदलने का मतलब हमें हमारी अवधारणाएं, हमारा दृष्टिकोण, हमारी सोच या हमारे व्यवहार आदि को बदलना हो सकता है।

एक मुलाकात शिकागो में (A Gathering, Chicago)
कुछ पुराने सहपाठी एक साथ मिलते हैं । उनमें से एक मित्र Michael कहता है कि मेरा बिज़नेस बंद होने वाला था तभी मैंने एक कहानी सुनी जिसे सुनकर मुझे लाभ हुआ | मैंने यह कहानी अपनी कंपनी में काम करने वाले सभी लोगों को सुनाई और मेरा बिज़नेस बंद होने से बच गया | इस कहानी का नाम है “मेरा चीज़ किसने हटाया? (Who Moved My Cheese?)” | Michael ने कहा कि इस कहानी को सुनने से लोगों को फायदा होता है | यदि आप लोग कहें तो मैं आपको भी सुनाता हूं| सभी लोग बहुत खुश हुए और उन्होंने कहानी सुनाने को कहा | मित्र कहानी सुनाने लगा

Who Moved My cheeze - The Story / कहानी

इस कहानी में 4 पात्र है | Sniff (स्निफ) और Scurry (स्करी) नाम के दो चूहे तथा Hem (हेम) और Haw (हॉ) नाम के दो छोटे व्यक्ति । ये दोनों आदमी चूहों के बराबर ही छोटे थे ।
रोज सुबह Sniff और Scurry तथा Hem और Haw अपने दौड़ने के जूते (Running shoes) और जोगिंग सूट (Jogging Suit) पहनकर एक भूलभुलैया में अपनी पसंद का चीज़ (Cheese / चीज़) खोजाने जाते थे | यह भूलभुलैया अनगिनत गलियारों की बनी थी जिसमें कई अंधेरे रास्ते थे, बंद गलियां थी और कई जगह स्वादिष्ट चीज़ भी था ।

एक दिन Sniff, Scurry, Hem और Haw ने Cheese station C (चीज़ स्टेशन सी) पाया जिसमें स्वादिष्ट Cheese का बहुत बड़ा भंडार था। Cheese इतनी बड़ी मात्रा में था कि वह उनके जीवन काल के लिए पर्याप्त था और उन्हें भूलभुलैया में कहीं और Cheese की खोज के लिए जाने की आवश्यकता नहीं थी। चीज़ का इतना बड़ा भंडार पाने के बाद इन चारों का जीवन सुखमय और आसान हो गया |

चीज़ का होना आपको ख़ुशी देता है | (Having Cheese Makes You Happy)


हर सुबह चीज़ स्टेशन सी पर जाना Sniff, Scurry, Hem और Haw की दिनचर्या बन गया था। दोनों चूहे Sniff और Scurry रोज सुबह जल्दी उठते और दौड़ कर चीज़ स्टेशन सी पर जाया करते थे | कुछ दिनों तक तो Hem और Haw भी चीज़ स्टेशन जाने के लिए जल्दी उठे और दौड़ कर गए। बाद में वे शिथिल और आश्वस्त हो गए और देर से उठने लगे| वे धीमे-धीमे कपड़े पहनते और आराम से टहलते हुए चीज़ स्टेशन जाते। चीज़ स्टेशन पर वे अपने दौड़ने के जूते निकालकर अपनी आरामदायक चप्पल पहनते और चीज़ का आनंद लेते। उन्होंने चीज़ स्टेशन की दीवारों को भी सजाया। वे निश्चिंत हो गए थे ।
Hem और Haw को इस बात से कोई मतलब नहीं था कि चीज़ कहां से आया या किसने डाला। क्योंकि उन्होंने मान लिया था कि यह चीज़ हमेशा के लिए रहेगा। उनका मानना था कि यह उनका चीज़ था।
उन्होंने खुद से कहा - "हम इस चीज़ को पाने के लायक हैं, हमें इसे खोजने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी" | उनका आत्मविश्वास अहंकार में बदल गया और उन्होंने यह देखना बंद कर दिया कि उनके आसपास क्या हो रहा है।
दूसरी ओर, Sniff और Scurry हमेशा की तरह चीज़ स्टेशन पर आते और चीज़ स्टेशन का निरीक्षण करते और पिछले दिन से आज में क्या बदला है उस पर ध्यान देते। एक दिन वे चीज़ स्टेशन आए और पाया कि वहां कोई चीज़ नहीं था। उन्हें आश्चर्य नहीं हुआ। वे देख रहे थे कि चीज़ का भंडार हर दिन कम हो रहा था। वे इसके लिए तैयार थे।
चूंकि Sniff और Scurry पूर्व अवधारणा और जटिल विश्वासों में उलझे नहीं थे और न ही वे परिस्थितियों पर अनावश्यक मंथन करते थे, अतः उन्होंने तुरंत अपने जॉगिंग सूट और रनिंग शूज़ पहन लिए और नए चीज़ खोजने के लिए भूलभुलैया में दौड़ने लगे। उनके लिए समस्या और समाधान सरल था। चीज़ स्टेशन की स्थिति बदल गई है इसलिए उन्हें भी स्वयं को बदलने की आवश्यकता थी।
जब Hem और Haw ने पाया कि चीज़ स्टेशन सी पर कोई चीज़ नहीं था, तो वे चौंक गए। उन्हें लगा कि उनके साथ विश्वासघात हुआ है | उन्होंने मान रखा था कि चीज़ हमेशा रहने वाला है । वे इस परिवर्तन के लिए तैयार नहीं थे। वे चिल्लाने लगे “मेरा चीज़ किसने हटाया?” | "यह सही नहीं है।"
Hem जोर से चिल्ला रहा था । उसका चेहरा गुस्से से लाल था। Haw किसी भी बात को सुनना नहीं चाहता था । वह इस पर विश्वास नहीं करना चाहता था । वह इनकार (Denial) की स्थिति में था । उन दोनों को यह तय करने में काफी समय लगा कि उन्हें अब क्या करना चाहिये । वे चीज़ स्टेशन के आसपास चीज़ को खोजते रहे और फिर भूखे ही घर चले गए । Haw ने दीवाल पर लिखा:

आपका चीज़ आपके लिए जितना अधिक महत्वपूर्ण होता है आप उतना ही ज़्यादा उसे अपने पास रखना चाहते हैं | (The More Important Your Cheese Is To You The More You Want To Hold On To It)


वे कह रहे थे कि उनके साथ अन्याय हुआ है । "किसी ने हमें चेतावनी नहीं दी"। वे अगले दिन फिर चीज़ स्टेशन सी आए पर वहां कोई चीज़ नहीं था। उन्होंने कहा "हमारे साथ उन्होंने ऐसा क्यों किया?" | "हमें मुआवजा मिलना चाहिए।"
उधर Sniff और Scurry भूलभुलैया में उस क्षेत्र में आगे बढ़ गए जहां वे पहले नहीं गए थे। उनका एकमात्र उद्देश्य नए चीज़ की खोज करना था। कुछ समय बाद उन्हें Cheese station N (चीज़ स्टेशन एन) मिला जो नये चीज़ से भरा था। इतना बड़ा चीज़ का भंडार उन्होंने कभी नहीं देखा था। वे बहुत प्रसन्न हुए।
Hem और Haw ने चीज़ खोजने के लिए चीज़ स्टेशन C पर जाना जारी रखा। वे अब गुस्से में थे, निराश थे और मौजूदा स्थिति के लिए एक-दूसरे को दोषी ठहरा रहे थे। Haw ने कहा कि चीज़ की खोज के लिए उन्हें पुनः भूलभुलैया में जाना चाहिए। Hem ने कहा कि नहीं यह जोखिम भरा है और नई शुरुआत करने की अब उसकी उम्र नहीं रही, वह यहां आराम से था।
उनकी निराशाएँ बढ़ती गयी, वे चिड़चिड़े होते गए | वे सो नहीं पा रहे थे। वे बुरे सपने देख रहे थे। फिर भी उन्होंने चीज़ स्टेशन सी पर जा कर चीज़ खोजने की अपनी पुरानी दिनचर्या नहीं छोड़ी। बहुत प्रयासों के साथ उन्होंने चीज़ स्टेशन की दीवार में एक बड़ा छेद बनाया ताकि यह पता कर सके कि चीज़ कहीं दीवार की दूसरी तरफ तो नहीं है। Hem ने कहा अगर हम कड़ी मेहनत करेंगे तो हमें परिणाम मिलेंगे। Haw को एहसास होने लगा कि ये प्रयास एक बरबादी है। कार्यकलाप और उत्पादकता के बीच अंतर है। Haw ने कहा कि हम बार-बार एक ही कार्य कर रहे हैं लेकिन एक अलग परिणाम चाहते हैं, जो मूर्खता पूर्ण है।
Haw ने अपने जॉगिंग सूट और दौड़ने के जूते पहन लिए। Hem ने कहा कि उन्हें तब तक इंतजार करना चाहिए जब तक वे चीज़ स्टेशन सी में वापस चीज़ नहीं डालते। । Haw ने कहा कि वे कभी भी चीज़ वापस नहीं डालेंगे। वह कल कि बात थी । कभी-कभी चीजें बदल जाती हैं और वे फिर कभी पुरानी स्थिति में वापस नहीं आती। यह नई चीज़ खोजने का समय है। Haw ने दीवार पर लिखा

यदि आप स्वयं में परिवर्तन नहीं करते हैं, तो आप विलुप्त हो सकते हैं। (If You Do Not Change, You Can Become Extinct)


भूलभुलैया में कोई चीज़ नहीं मिलने के डर ने उसे वापस रोक दिया था। अब जब Haw भूलभुलैया में जाने के लिए तैयार था, तो वह और अधिक जीवित महसूस कर रहा था। Haw मुस्करा रहा था | वह जानता था कि Hem सोच रहा होगा कि “मेरा चीज़ किसने हटाया ?” जबकि वह सोच रहा था कि चीज़ हटने के साथ ही उसने नए प्रयास क्यों नहीं प्रारंभ किये | उसने दीवार पर लिखा

अगर आप डर नहीं रहे हो तो आप क्या करेंगे? (What Would You Do If You Weren’t Afraid?)


उसने फैसला किया कि अगर उसे फिर कभी मौका मिला, तो वह जल्द से जल्द स्वयं को बदलने के लिए तत्पर रहेगा । इससे चीजें आसान होंगी। उसने खुद से कहा 


देर से करना, कभी नहीं करने से बेहतर है  (Better late than never|
शुरुआत में Haw को संघर्ष करना पड़ा। थोड़ा चीज़ इधर-उधर मिला लेकिन वह पर्याप्त नहीं था। उसकी प्रगति धीमी थी। भूलभुलैया बदल गई थी और चीज़ की खोज करना एक चुनौती थी। लेकिन उसने महसूस किया कि चीज़ की खोज करना उतना मुश्किल नहीं था जितना कि उसे डर था। वह आश्वस्त था कि वह जो कुछ भी कर रहा था, हालांकि यह मुश्किल था, पर वह चीज़ की कमी की स्थिति में रहने से बेहतर था। वह चीजों को होने देने के बजाय उन्हें नियंत्रित कर रहा था। उसने यह भी महसूस किया कि चीज़ स्टेशन सी पर चीज़ रातोंरात गायब नहीं हुआ था। चीज़ की मात्रा कम हो रही थी, पुराना चीज़ बचा हुआ था जिसका स्वाद अच्छा नहीं था। अगर वह चाहता तो जान सकता था कि भविष्य में क्या आ रहा है। लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। यदि वह आस पास के परिवर्तनों के प्रति सजग रहता और यदि उसने परिवर्तन का पूर्वानुमान लगाया होता तो अचानक आया यह परिवर्तन उसे आश्चर्यचकित नहीं कर पाता।

चीज़ को समय समय पर सूंघते रहे ताकी आप जान सकें कि वह बासी हो रही है | (Smell The Cheese Often So You Know When It Is Getting Old)


एक दिन Haw को एक बड़ा चीज़ स्टेशन मिला लेकिन जब वह अंदर गया तो उसे खाली पाया। कोई उससे पहले ही चीज़ स्टेशन पहुंचकर चीज़ खा चुका था । वह खाली चीज़ स्टेशन देखकर रिक्तता की भावना से भयभीत हो गया और चीज़ स्टेशन सी वापस जाने की सोचने लगा। तभी उसने फिर खुद से पूछा - "अगर मैं डर नहीं रहा होता तो मैं क्या करता?"
तभी उसने सोचा कि “क्या Hem अभी भी अपने डर के कारण सुस्त पड़ा होगा”। उसने दीवार पर लिखा

एक नई दिशा में चलना आपको नई चीज़ खोजने में मदद करता है। (Movement In A New Direction Helps You Find New Cheese)


उसे एहसास हुआ कि वह पिछड़ रहा था क्योंकि वह नकारात्मक विचारों का शिकार हो रहा था। उसे एहसास हुआ कि जब वह आगे बढ़ रहा था तब वह खुद को खुश पा रहा था । उसने रुक कर दीवाल पर लिखा:

जब आप अपने डर से ऊपर उठाते हैं, तो आप स्वतंत्र महसूस करते हैं। (When You Move Beyond Your Fear, You Feel Free)


जब एक बार कोई अपने डर पर काबू पा लेता है,  तब यह स्थिति उसकी कल्पना से अधिक सुखद होती है। उसने अपने दिमाग में मानसिक चित्र बनाना शुरू कर दिया कि वह अपने पसंदीदा चीज़ के ढेर के बीच में बैठा है । वह जितना अधिक स्पष्ट रूप से इस नए चीज़ की छवि देख पा रहा था  उतना ही वह उसे वास्तविक लग रहा था और उतना अधिक उसे विश्वास हो रहा था कि वह जल्द उसे पा लेगा । उसने लिखा

पाने से पूर्व ही नए चीज़ को पाने और उसका आनंद लेने की कल्पना, मुझे उस तक पहुंचा रही है। (Imagining Myself Enjoying New Cheese Even Before I Find It, Leads Me To It)

उसने पाया कि एक और चीज़ स्टेशन में कुछ नए चीज़ थे जो उसके दरवाजे पर बिखरे हुए थे। उसने उन सभी को खा लिया और ताकत हासिल की। हालांकि, अंदर जाने पर उसने पाया कि किसी ने पहले ही चीज़ खत्म कर दिया था। कोई उससे पहले ही वहां आ चुका था। उसने महसूस किया कि अगर वह वहां जल्दी आ जाता तो उसे वह नई चीज मिल गई होती। उसने लिखा

जितनी जल्दी आप पुराने चीज़ को जाने देंगे उतनी ही जल्दी आपको नया चीज़ मिलेगा | (The Quicker You Let Go Of Old Cheese, The Sooner You Find New Cheese)

Haw वापस Hem के पास गया और उसे नए चीज़ के कुछ टुकड़े दिए। Hem ने उन्हें लेने से मना कर दिया और कहा कि वह अपना चीज़ ही वापस चाहता है और वह नए चीज़ को पसंद नहीं कर सकता | Haw ने नए चीज़ की खोज में फिर से भूलभुलैया में जाते हुए लिखा

चीज़ की कमी में रहने के बजाए भूलभुलैया में खोज करना अधिक सुरक्षित है। (It Is Safer To Search In The Maze Than Remain In A Cheeseless Situation)

उसे एहसास हुआ कि आपका डर उतना बुरा नहीं होता है जितना बुरा हम उसकी कल्पना में करते हैं। उसे याद आया कि एक वह भी दिन था कि चीज़ न मिलने के डर के कारण वह उसकी खोज भी शुरू नहीं करना चाहता था। वह जो सही हो सकता है उसके बारे में सोचने के बजाय क्या गलत हो सकता है उसके बारे में अधिक सोचता था। वह जान गया था कि कि लगातार बदलाव आना स्वाभाविक है, चाहे आप आप इसकी उम्मीद करें या न करें। परिवर्तन केवल आपको तभी आश्चर्यचकित कर सकता है जब आप इसकी अपेक्षा नहीं करते है और आप उसका पूर्वानुमान नहीं लगाते हैं। उसने लिखा

पुरानी अवधारणायें आपको नए चीज़ की ओर नहीं ले जा सकती हैं। (Old Beliefs Do Not Lead You To New Cheese)

उसने महसूस किया कि नई धारणा और विश्वास उसमें नए व्यवहार को प्रोत्साहित कर रहें हैं।
वह जान गया था कि यदि आप सोचेंगे कि परिवर्तन आपको नुकसान पहुंचाएगा तो आप उसका विरोध करेंगे अन्यथा आप विश्वास करेंगे कि नए चीज़ की खोज आपको परिवर्तन को अपनाने में सहायता करेगी। उसने लिखा:

जब आप देखते हैं कि आप नए चीज़ को पा सकते हैं और उसका आनंद ले सकते हैं, तो आप अपनी दिशा बदल देते हैं | (When You See That You Can Find And Enjoy New Cheese, You Change Course)


Haw समझ गया था कि यदि उसने परिवर्तन को जल्दी स्वीकारा होता तो आज उसकी स्थिति बेहतर होती | वह खुश था कि उसने जगह-जगह दीवाल पर सन्देश लिखें हैं जो Hem के लिए मार्गदर्शक साबित होंगे | उसने फिर दीवाल पर लिखा:

छोटे बदलावों को जल्दी देख लेना आपको आने वाले बड़े बदलावों के अनुकूल होने में मदद करता है। (Noticing Small Changes Early Helps You Adapt To Bigger Changes That Are To Come)


Haw ने भूलभुलैया के नए हिस्सों में खोज करने की अपनी इच्छा शक्ति बरक़रार रखी। उसने अतीत को जाने दिया और वह अपने आप को भविष्य के अनुकूल बनाने लगा । तब उसके प्रयासों को सफलता मिली और उसने चीज़ स्टेशन एन को देखा। इसमें चीज़ की सबसे बड़ी आपूर्ति थी। कुछ चीज़ उसके लिए नए थे। जब वह अंदर गया तो उसने वहां Sniff और Scurry को देखा। स्वादिष्ट चीज़ खाने से वे मोटे हो गए थे। Haw ने अपने जॉगिंग सूट और दौड़ने वाले जूते उतार दिए और उन्हें अपने पास ही रखा ताकि फिर जरूरत पड़े तो उनका प्रयोग कर सके । उसने अपना चीज़ खाया और कहा "हुर्रे, यह बदलाव के लिए।" उसने जान लिया था कि Sniff और Scurry ने उसे जीवन को सरल बनाए रखने का तरीका सिखा दिया है और अपने आसपास के बदलाव के साथ जल्दी से बदलने की सीख दी है ।
Haw अपने द्वारा की गलतियों पर पुनर्विचार करने लगा । अब वह जानता था कि परिवर्तन को अपनाने के लिए सबसे बड़ी रुकावट व्यक्ति स्वयं है। उसने महसूस किया कि परिवर्तन उसके लिए फायदेमंद था, भले ही उस समय वह उसे पसंद नहीं आ रहा था। छोटे परिवर्तनों के साथ ही बड़े बदलाव के तैयार हो जाना चाहिये | सबसे महत्वपूर्ण यह जानना था कि हमारे आस पास नयी चीज़ हमेशा रहती है चाहे हम उसे उस समय पहचान पायें अथवा नहीं | और यदि हम अपने डर से ऊपर उठ पाते हैं तो हमें उसका स्वाद चखने का मौक़ा भी मिलता है |
उसने Hem के बारे में सोचा कि क्या उसने अतीत को जाने दिया होगा और अपने आप को बदल लिया होगा। क्यों कि केवल वही परिवर्तन के महत्व और उसके लाभ को समझ कर बदलने का निर्णय ले सकता था। अगर Hem दीवाल पर लिखे उसके संदेशों को पढ़ लेगा तो उसे सही दिशा मिल जायेगी |
Haw ने अभी तक पायी सीख का सारांश चीज़ स्टेशन एन की दीवाल पर लिखा

परिवर्तन / बदलाव होते रहते हैं (Change Happens)

वो आपकी चीज़ हटाते रहते हैं (They Keep Moving The Cheese)


परिवर्तन का पूर्वानुमान लगायें (Anticipate Change)

चीज़ के हट जाने के लिए तैयार हो जायें (Get Ready For The Cheese To 
Move)


परिवर्तन पर नज़र रखें (Monitor Change)

चीज़ को समय-समय पर सूंघते रहे ताकी आप जान सकें कि वह बासी हो रही है (Smell The Cheese Often So You Know When It Is Getting Old)


परिवर्तन के साथ जल्द से जल्द सामंजस्य स्थापित करें  (Adapt To Change Quickly)

जितनी जल्दी आप पुराने चीज़ को जाने देंगे उतनी ही जल्दी आपको नया चीज़ मिलेगा (The Quicker You Let Go of Old Cheese, The Sooner You Can Enjoy New Cheese)


परिवर्तन (Change)

चीज़ के साथ चलें (Move With The Cheese)


परिवर्तन का आनंद लें (Enjoy Change)

जोखिम का आनंद उठायें और नए चीज़ के स्वाद का मज़ा लें (Savour The Adventure And Enjoy The Taste Of New Cheese)


जल्दी से बदलने और उसका आनंद लेने के लिए तैयार रहें (Be Ready To Change Quickly And Enjoy It Again)

वो चीज़ हटाते रहेंगे (They Keep Moving The Cheese)

Haw जानता था कि वह चीज़ स्टेशन सी की स्थिति से बहुत आगे बढ़ आया है | किन्तु यदि वह सुविधाजनक परिस्थितियों के रहते अगर आराम पसंद हो गया तो वह वापस पुरानी स्थिति में जा सकता है | चीज़ स्टेशन एन में काफी चीज़ होने के बाद भी Haw नए चीज़ का पता लगाने के लिए भूलभुलैया में चला जाता था । उसने सुविधाजनक स्थिति (Comfort Zone) से बाहर निकलना सीख लिया था | वह निष्क्रिय रहकर सच्चाई से दूर रहने के बजाय वास्तविक विकल्पों का पता लगाने का महत्व समझ गया था।
तभी Haw ने भूलभुलैया में कुछ आवाज़ सुनी जो कि बढ़ती जा रही थी | ऐसा लग रहा ठाट कि कोई आ रहा है | Haw ने प्रार्थना की कि काश उसका दोस्त यह कर सका हो ..  

उसी दिन बाद में हुई एक चर्चा (A Discussion Later That Same Day)


शाम को सारे दोस्त फिर मिलते हैं | Angela  ने पूछा तुम में से कौन Sniff, Scurry, Hem या Haw है |
Carlos बोला मैं Sniff नहीं था क्यों कि मैं बदलाव को सूंघ नहीं पाया, मैं Scurry भी नहीं था क्यों कि मैंने तुरंत कार्यवाही नहीं की | मैं Hem जैसा था, मैं समझे बूझे परिवेश में रहना चाहता था, मैं परिवर्तन का सामना नहीं करना चाहता था |
Jessica ने कहा कि मेरी ज़िन्दगी में भी चीज़ कई बार हटाई गयी | Nathan ने कहा सच है कि बदलाव सबकी जिंदगी में आता है | काश मेरे परिवार ने ये कहानी पहले सुनी होती तो हमें अपने इतने स्टोर बंद नहीं करने पड़ रहे होते | Laura बोली कि वह जानना चाहती है कि हममें से कितने लोगों को परिवर्तन से डर लगता है | सिर्फ एक ने हाथ उठाया | फिर उसने पूछा कि यह बताओ कितनों को यह लगता है कि बाकी सबको बदलाव से डर लगता है | सभी ने हाथ उठा दिया | सभी ने माना कि वे बदलाव के डर को अस्वीकार रहे थे | Jessica, Nathan ने व्यवसाय में बदलाव के साथ ना बदलने से हुए नुकसान के बारे में चर्चा की |
Nathan ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न यह है कि पुराने चीज़ को पीछे छोड़ कर आगे बढने के लिए हमें क्या करना चाहिए ? शायद बदलाव की शुरुआत हमें खुद करनी चहिये और फिर स्वंय प्रयास कर उसके अनुकूल बनना चहिये | यानी हमें खुद ही अपनी चीज़ हटानी चहिये |
Elaine ने कहा कि सब लोग अभी तक सिर्फ व्यवसाय या नौकरी की बात कर रहे हैं | पर यह कहानी सुनने के बाद मुझे मेरी व्यक्तिगत ज़िन्दगी का ध्यान  आया | मुझे लगता है कि अभी जो मेरा सम्बन्ध है वह एक पुरानी चीज़ की तरह हो गया है और उसपर फफूंद लग रही है | 
Cory  ने कहा मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही है – हमें पुराने सम्बन्ध छोड़ कर नए सम्बन्ध बनाने चहिये |
Richard ने कहा यहाँ एक दूसरा पहलू भी है – हमें पुराने सम्बन्ध को छोड़ने के बजाये पुराने व्यवहार को छोड़ना चाहिये |
Jessica बोली मैं घर जाकर अपने बच्चों को यह कहानी सुनाऊंगी और उनसे पूछूंगी कि वे Sniff, Scurry, Hem और Haw में से कौन हैं |
Michael बोला इस कहानी ने मेरे बिज़नेस को सँभालने में बहुत मदद की | लोग बदलाव के लिए तैयार हो गए क्यों कि कोई भी Hem की तरह नहीं बनना चाहता था |
********** समाप्त **********

कहानी के कुछ आत्मसार करने योग्य बिंदु:
Ø परिवर्तन रास्तों के बंद हो जाने का संकेत नहीं है बल्कि नए रास्तों को खोजने की प्रक्रिया है |
Ø हम सभी को परिवर्तन से डर लगता है।
Ø परिवर्तन के भय से निष्क्रिय रहना या कुछ ना करना कोई समाधान नहीं है। हमें विकल्पों की तलाश करनी चाहिए।
Ø परिवर्तन के अनुसार बदलने का निर्णय केवल हम ही ले सकते हैं।
Ø यह सोचें कि यदि आप डर नहीं रहे हैं तो आप क्या करेंगे।
Ø भविष्य में अपने आसपास हो रहे परिवर्तनों के प्रति सजग रहें। 
Ø अपने आसपास हो रहे परिवर्तन के साथ-साथ स्वयं को बदलने के लिए तत्पर रहें।
Ø समय-समय पर अपने आप ही परिवर्तन को जीवन में डालें जिससे परिवर्तन का सामना करने की आपकी ताकत और इच्छा शक्ति हमेशा बनी रहे।
Ø नए विकल्पों पर कार्य करने का भय, नए विकल्प पर वास्तविकता में काम करने से कहीं अधिक डरावना होता है।
Ø जब आप अपने डर से आगे बढ़ते हैं, तो आप स्वतंत्र महसूस करते हैं |  

Comments